• Pravin Chalak

Coronavirus

जनता कर्फ्यू कैसे कोरोना वायरस को हराने में कामयाब हो सकता हैं?


कोरोना व्हायरस रेस्पिरेटरी व्हायरस है | संसर्ग जन्य व्हायरस होणे के कारण वह छिंक, खांसी जैसे एअर ड्रॉपलेट से फैलता है | जितनी हम आपस में दुरिया रखेंगे उताना उसका प्रसार होणा रुक जायेगा | इसलिये प्रकार हम व्हायरस कि लाईफ चैन तोड सकते है |और भारत कि आबादी जादा होनेसे आपसी संबंध एक दुसरेसें जादा आते है | जनता करफू से लोगोको एक दुसरेसें मिलने जुलने पे पाबंदी आजायेगी | इस वजह से कोरोना व्हायरस अगर किसीके शरीरमे है तो वो दुसरेके शरीर में जा नही पायेगा | हम सब अगर मिलकर सारी सावधनिया बरतेंगे तो जरूर कोरोना व्हायरस को हाराने में कामियाबी पा सकते है |


क्या आप काेराेना वायरस से जुड़ी भ्रांतियाें के बारे में बता सकते हैं


कोरोना को लेकर कई झूठी अफवाहें भी फैल रही हैं।

1) गर्मी के मौसम में कोरोना वायरस खत्म हो जाएगा?

यह बिलकुल गलत है। पिछली महामारियों के इतिहास को देखा जाए तो ऐसा नहीं कहा जा सकता है। यह सिर्फ भ्रम है|

2) गर्मियों में मच्छर के काटने से कोरोना वायरस और अधिक फैलेगा?

गलत, कोरोना वायरस श्वसन तंत्र से फैलता है, न कि खून से। मच्छरों से कोरोना वायरस नहीं फैलता है

3) हैंड सेनिटाइजर पानी और साबुन से अधिक बेहतर है?

साबुन और पानी वास्तव में हमारी त्वचा से वायरस को नष्ट करते हैं (यह हमारी त्वचा की कोशिका में नहीं घुस सकता है)। यह हाथ में दिखाई दे रही गंदगी को साफ करते हैं। सेनिटाइजर अगर खत्म हो जाए, तो घबराने की आवश्यकता नहीं।

4) कोरोना वायरस को लेकर सामाजिक दूरी को लेकर अत्यधिक प्रचार हो रहा है, लेकिन यह बहुत ज्यादा नुकसानदेह नहीं है?

अभी इतना ज्यादा संक्रमण नहीं हुआ है और यह सामाजिक दूरी के कारण ही हुआ है। वरना कोरोना वायरस बहुत खतरनाक है।


कोरोना वायरस के कारण भारत में मौजूदा हालात क्या हैं?


कोरोना वायरस के कारण भारत में मौजूदा हालत बिघडी हुई है | गव्हर्नमेंट ने ये मामला बहुत हि सिरीयसली लिया है | क्यूँ कि इटली जैसे प्रगत देश भी बुरी तरह से चपेट में आया है | भारत कि जनसंख्या बहोत बडी है | इसलिये कोरोना का प्रसार बहोत जल्द हो सकता है |पर आम आदमी उतना सिरीयस नही दिख राहा | इसलिए सबको सावधानिया बरतनि चाहिये | भारत कि इकॉनॉमि बुरी तरह से घायल हो गयी है | और भी बत्तर हो सकती है | सबको मिलके इस व्हायरस से लढणा चाहिये |


क्या प्रकृति से छेड़छाड़ करने का ही नतीजा है कोरोना वायरस?


हाँ, कोरोना वायरस जंगली जानवरोमे पाया जाता है | अगर आप उनको भी काटकर खाने लग जाओगे तो व्हायरस आपके अंदर भी आ जायेगा | चीन के मार्केट से हि कोरोना का प्रसार शुरु हुआ है | आप प्रकृती के साथ खेलोगे तो वह आपको हि खिलोना बना देगी |



कोरोना वायरस की वजह से अर्थव्यवस्था पर क्या प्रभाव पड़ रहा है?


कोरोना व्हायरस

के वजहसे भारत कि हि नही पुरी दुनिया कि अर्थव्यवस्था पे बुरा असर पड राहा है |

कंपनीओं का प्रॉडक्शन रुक गये, मॉल, दुकानें, रेल्वे, बाजार बंद हो रहे है | सब कॅश फ्लो धीरे धीरे कम हो राहा है | शेयर बाजार बुरी तरहसे गीर राहा है | इकॉनॉमि में स्लो डाउन आ रहा है | सब सेक्टर में मंदी के असार है | अर्थव्यवस्था बुरी तरह घायल हो रही है |


corona virus कब तक रहेगा ?


जब तक कोरोना व्हायरस के ( लाईफ चैन ) जीवन चक्र को भेद नही देते तब तक कोरोना का प्रसार रोक नही सकते | इसलिये सब को सावधानिया बरतनी होगी |

16 views0 comments